Home India News ग्रामीणों की मदद से दूसरा हमलावर हुआ था गिरफ्तार, एएसपी ने किया...

ग्रामीणों की मदद से दूसरा हमलावर हुआ था गिरफ्तार, एएसपी ने किया मामले का खुलासा–

11
0
SHARE

 

 

आलोक बरनवाल-रुधौली बस्ती

 

रुधौली थाना क्षेत्र विशुनपुरवा चौराहे पर एक कांप्लेक्स के प्रथम तल पर स्थित करन कंप्यूटर सीएससी संचालक से लूट में नाकाम होने पर प्राणघातक हमला करने वाला दूसरा बदमाश भी स्थानीय लोगों की मदद से रुधौली पुलिस ने पकड़ लिया है थाना क्षेत्र के दमया परसा ताल के पास ग्रामीणों की मदद से पकड़ लिया गया था यह उसी गांव के खेतों के बीच में मेड़ पर बैठा हुआ था जिसकी सूचना रुधौली पुलिस को देने के उपरांत उसे गिरफ्त में लेकर पूछताछ की जा रही।

ग्रामीणों के पास आते देख हमलावर असला दिखाकर उन्हें डराता था और ग्रामीणों ने उसे असलहा फेंक कर सरेंडर करने की सलाह लोग दे रहे थे अंततः जब ग्रामीणों को एहसास हुआ कि अब बदमाश के पास गोली नहीं है तो घेर कर उसे पकड़ लिया घटना को अंजाम देने के बाद यह हमलावर शाम को पैदल ही खेतों के रास्ते भागने में सफल हो गया था जबकि दूसरे बदमाश को सीएसपी संचालक ने दिलेरी दिखाते हुए घायल होने के बाद उसे पकड़ लिया था आसपास के लोगों ने उसे खूब मारा पीटा और पुलिस के हवाले कर दिया।

देर शाम अपर पुलिस अधीक्षक दीपेंद्र नाथ चौधरी ने मंगलवार को प्रेस वार्ता के माध्यम से बताया कि केंद्र संचालक रामकरण को गोली मारकर लूट करने के मामले में आरोपित मोहम्मद हनीफ उर्फ मुन्ना गिरफ्तारी के बाद मंगलवार को असलहा लहराते हुए फरार हुए संदीप सरोज उर्फ मोहम्मद को रतनपुरा के पास स्थित भट्ठे के पास दोपहर 2:00 बजे गिरफ्तार कर लिया गया मोहम्मद हनीफ उर्फ मुन्ना निवासी वापी थाना डूंगरा फलिया खाना डुमरा जनपद वलसाड गुजरात प्रदेश का जबकि संदीप सरोज उर्फ मोहम्मद निवासी ग्राम मुरैनी थाना सांगीपुर जनपद प्रतापगढ़ हाल मुकाम मोहल्ला निरंकारी गली नंबर 3 मकान नंबर 625 व जनपद लुधियाना पंजाब प्रदेश के दोनों साथी हैं दोनों का अपराधिक इतिहास है मोहम्मद हनीफ पर वलसाड जिले में 5 तो संदीप सरोज उर्फ मोहम्मद पर एक मुकदमा दर्ज है दोनों मुंबई से संत कबीर नगर जिले के बाघ नगर में रहने वाले रिजवान से मिलने आए थे।

रिजवान ने उससे कहा था कभी यूपी आना तो जरूर मुलाकात करने की बात कही थी एडिशनल एसपी दीपेंद्र चौधरी ने बताया कि दोनों बदमाश बाघ नगर से वापस लौट रहे थे इसी बीच उनके पास पैसा खत्म हो गया और लगभग 20 मिनट के इंतजार के बाद खाली पाकर ग्राहक सेवा केंद्र पर लूटने व छीना झपटी होने लगी तभी मोहम्मद हनीफ ने असले से फायर कर दिया और असला उसे पकड़ा दिया हनीफ को लोगों ने पकड़कर काफी मारा-पीटा जबकि संदीप असला लेकर भाग गया था और सुबह पकड़ा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here