Home आपका शहर उपनिदेशक अल्पसंख्यक और बीएसए ने किया मदरसे का सर्वे

उपनिदेशक अल्पसंख्यक और बीएसए ने किया मदरसे का सर्वे

61
0
SHARE

12 बिंदुओं के निर्धारित प्रारूप पर हुआ सर्वे

उपनिदेशक विजय प्रताप यादव ने सर्वे में सहयोग करने की किया अपील

बस्ती। उत्तर प्रदेश शासन के आदेश पर मदरसा शिक्षा परिषद के गैर मान्यता प्राप्त मदरसों का 12 बिन्दुओं पर सर्वे उपनिदेशक अल्पसंख्यक कल्याण एवं बीएसए की संयुक्त टीम ने किया।
बनकटी ब्लॉक के बजहाँ, डेलापर और इटहर गांव में संचालित हो रहे गैर मान्यता प्राप्त मदरसों पहुंच कर उपनिदेशक अल्पसंख्यक कल्याण डॉ विजय प्रताप यादव और जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत प्रजापति ने सर्वे किया। सभी कोविड महामारी के बाद से बंद चल रहे हैं। मदरसों के जिम्मेदारों से बातचीत कर सर्वे के निर्धारित प्रारूप पर 12 बिंदुओं की जानकारी ली गई।

मदरसा अरबिया अहले सुन्नत अनवारुल उलूम बजहाँ के प्रबंधक अली अहमद ने बताया कि गांव के लोगों द्वारा दिये गए चंदे से या मदरसा चल रहा था, आसपास के लगभग 80 बच्चे यहां धार्मिक और सामाजिक शिक्षा ग्रहण करते थे लेकिन मान्यता न होने के कारण कोविड काल के बाद से मदरसा बंद कर दिया गया। कई बार मान्यता के लिए प्रयास किया लेकिन पता चला कि शासन स्तर से रोक लगी हुई है।
मदरसा जियाउल इस्लाम देल्हापार और मदरसा अरबिया अहले सुन्नत दावतुल इस्लाम इटहर का भी सर्वे किया गया।
डीडी अल्पसंख्यक विजय प्रताप यादव ने बताया कि अपरजिलाधिकारी की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी बनाई गई है, जिसमे जिला अल्पसंख्यक अधिकारी, बीएसए और संबंधित एसडीएम को रखा गया है। बताया कि ये किसी प्रकार की जांच नही है बल्कि शासन द्वारा मदरसों का सर्वे कराया जा रहा है, 12 बिंदुओं पर मदरसों में मौजूद सुविधाओं का सर्वे किया जा रहा है, इससे घबराने की जरूरत नही है। सर्वे के लिए सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिया है कि अपने अपने क्षेत्र में बिना मान्यता के संचालित मदरसों की सूचना निर्धारित प्रारूप पर जल्द से जल्द उपलब्ध कराए।
इस दौरान वक्फ इंस्पेक्टर अनिल कुमार और परवेज अहमद मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here