Home India News जांच टीम की रिपोर्ट पर कोटे की दुकान —

जांच टीम की रिपोर्ट पर कोटे की दुकान —

63
0
SHARE

 

 

शक्तिओम सिंह – खजनी गोरखपुर

 

 

खजनी तहसील के चरनाद ग्राम पंचायत में राशन वितरण में अनियमियता व फर्जी यूनिट बढ़ाकर राशन डकारने के मामले में ग्रामीणों की शिकायत पर गठित तीन सदस्यीय जांच टीम की रिपोर्ट के बाद कोटे की दुकान सस्पेंड कर दी गई ।

 

 

मामला सामने आया था ।

चरनाद गांव के रमाशंकर त्रिपाठी, मेवालाल,कुलदीप ने लिखित शिकायत कर सम्बन्धित अधिकारी से कोटेदार के खिलाफ कार्यवाही की मांग की थी । जिसको लेकर उच्चाधिकारी के दखल पर तीन सदस्यी जांच कमेटी बैठाई गयी । लम्बे जांच के बाद शिकायत सही पाया गया और तीन सदस्यी टीम द्वारा जाँच रिपोर्ट भेजी गई जिसके आधार पर एसडीएम खजनी ने कोटे को निलंबित कर दिया गया।

मामला खजनी तहसील क्षेत्र ग्राम सभा चरनाद का है । जहां कई कोटेदार विमला शुक्ला पर राशन वितरण ,यूनिक का फर्जीवाड़ा राशन धांधली करने के आरोप लगाए गए । राशन घोटाला को लेकर गांव विरोध पर आगे आया । जिसपर तीन सदस्यी टीम को जांच सौंपी गई । जिसमे बीडीओ खजनी सीडीपीओ खजनी एसडीआई को जांच के आदेश दिए गए । काफी दिनों तक कोटे की जांच चली जिसमें कई शिकायतें सही पाई गई ।

जैसे 7 मार्च को दुकान बंद पाया जाना , साइन बोर्ड दर स्टाक बोर्ड सुची अंत्योदय ,पात्र गृहस्ती के सूची पारदर्शिता नही थी ।जांच अधिकारी को स्टाक रजिस्टर व ई पॉस मशीन उवलब्ध नही कराई गई , अंत्योदय कार्ड धारक बबिता पत्नी महेंद्र ,यशोदा पत्नी शिवराम कलावती पत्नी प्रभु का आरोप था उचित दर बिक्रेता के पुत्र का ब्यवहार बहुत खराब है ,ई पॉस मशीन पर अंगूठा लगवाने के बाद तुरन्त राशन नही दिया जाता । इसी प्रकार जांच में कई खामियां सामने आई । तीन सदस्यी जांच टीम ने अपनी रिपोट एसडीएम को भेजा जिसपर तत्काल प्रभाव उचित दर बिक्रेता को निलंबित कर दिया गया ।एसडीएम खजनी पवन कुमार ने बताया ,जांच सौंपी गई थी ,जांच रिपोर्ट में आरोप सही पाया गया । उसके बाद उचित दर बिक्रेता को निलंबित कर दिया गया है,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here