Home India News च्यवनप्राश को टक्कर दे रहा आयुर्वेदाचार्य अवधेश पाण्डेय के द्वारा बनाया गया...

च्यवनप्राश को टक्कर दे रहा आयुर्वेदाचार्य अवधेश पाण्डेय के द्वारा बनाया गया गुड़–

158
0
SHARE

 

राजेश शुक्ल बनकटी-बस्ती

 

बनकटी ब्लॉक मुख्यालय परिसर में रविवार को किसान मेला एवं प्रदर्शनी का आयोजन किया गया । कार्यक्रम में धौरहरा गोचना के राजस्व गांव भरवलिया निवासी किसान अवधेश पाण्डेय ने परंपरागत खेती को अलग तरीके से करने की जानकारी साझा करते हुए बताया कि शून्य लागत से लाखों का मुनाफा कमाया जा सकता है। श्री पाण्डेय के घर जैविक तकनीक से उपजे गन्ने से बने अलग अलग तरीके के गुड़ जो च्यवनप्राश को टक्कर देते हैं की मांग काफी बढ़ चुकी है ।जैविक गन्ने से बना गुड़ स्वादिष्ट होने के साथ ही गुणवत्ता में भी बेजोड़ है। दूरदराज के किसान जैविक खेती करने का तरीका देखने और सीखने उनके पास आते हैं ।

रासायनिक खादों का अत्यधिक उपयोग करने से लोगों में बीमारी होने का डर बना रहता है । रासायनिक उर्वरक के खेतों में उपयोग करने से ब्लड प्रेशर शुगर, कैंसर,महिलाओं में बांझपन एवं तमाम प्रकार की बीमारी पैदा हो रही है । बीमारियों के इलाज में लाखों खर्च कर किसान आर्थिक तंगी का सामना कर रहे हैं ।

किसानों को स्वस्थ व खुशहाल रखने के लिए जैविक खाद से फसलों की उपज बढ़ाने के टिप्स दिए । श्री पाण्डेय के खेत में जैविक खाद ही पड़ता है जिससे उनके खेतों में रासायनिक खाद मुक्त चना,मटर,मसूर,गेहूं ,काला चावल एवं सब्जियों कि जैविक तकनीक से खेती की जा रही है ।

जैविक खेती को आगे बढ़ाने को लेकर 65 वर्षीय किसान अवधेश पाण्डेय के मन में जुनून पैदा हो गया । जैविक गुड़ का डिमांड पूरी ना होने के कारण सीजन भर यहां एडवांस बुकिंग रहती है ।गुड़ के शौकीन लोगों ने जैविक गुण से बने च्यवनप्राश, सिरका, खरीद कर लोग विदेशों तक भी पहुंचा रहे हैं ।

किसान मेले का संचालन युवा कल्याण अधिकारी अरुण कुमार पाण्डेय ने किया । इस अवसर पर पशुधन प्रसार अधिकारी सुशील शुक्ला,विवेकानंद शुक्ला, रवि चंद्र पाण्डेय,अंकित पाण्डेय, विवेक पाण्डेय, रोहित दूबे आदि लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here