Home India News 21साल से कम थी प्रधान की उम्र तो कोर्ट ने रद्द कर...

21साल से कम थी प्रधान की उम्र तो कोर्ट ने रद्द कर दी प्रधानी–

541
0
SHARE

राजेश शुक्ल- बनकटी बस्ती

11 मार्च 2016 को माननीय हाईकोर्ट इलाहाबाद में दायर याचिका मोहम्मद असलम बनाम अब्दुल कादिर की सुनवाई करते हुए प्रधानी चुनाव निरस्त कर दिया गया है ।
जी हां, बनकटी विकास क्षेत्र के डेल्हापार ग्राम पंचायत के प्रधान अब्दुल कादिर पुत्र मजीद का 13 दिसम्बर 2015 में घोषित चुनाव परिणाम व निर्वाचन को अवैध घोषित कर प्रधानी निरस्त कर दी गई । इसी गांव के मोहम्मद असलम ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर कर प्रधान की उम्र 21 वर्ष से कम होने का दावा पेश किया । जिसमें कहा गया कि ग्राम प्रधान अब्दुल कादिर द्वारा चुनाव नामांकन तिथि 19 जनवरी 2015 को प्रस्तुत दस्तावेज परिवार रजिस्टर की नकल में अंकित जन्म तिथि 10 फरवरी 1991 है तथा निर्वाचन कार्ड में अंकित जन्मतिथि भी अलग है । जबकि जन्मप्रमाण पत्र के रूप में सबसे पक्का कहे जाने वाले हाई स्कूल के अंक पत्र में अंकित जन्मदिन तिथि में प्रधान की उम्र 21 साल पूरा ही नहीं हो रहा है ।
याची द्वारा न्यायालय में प्रस्तुत दस्तावेज हाई स्कूल के अंक पत्र में अंकित जन्म तिथि 7-7-1995 है । इस प्रकार प्रधान की उम्र उस समय 20 वर्ष 4 महीने 12 दिन ही थी ।
याची के अधिवक्ता द्वारा माननीय हाईकोर्ट इलाहाबाद में प्रस्तुत साक्ष्यों का अवलोकन करते हुए 15 दिसंबर 2020 को उक्त ग्राम पंचायत के प्रधान की उम्र पर चल रहा विवाद फैसला आने के बाद खत्म हो गया । कोर्ट के फैसले में 13 दिसम्बर 2015 को अब्दुल कादिर के पक्ष में घोषित चुनाव परिणाम व निर्वाचन को ही अवैध घोषित करते हुए प्रधानी निरस्त कर दी गई ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here