Home India News
164
0
SHARE

ओवररेटिंग के खेल में ठगे जा रहे शराब के शौकीन–

बनकटी, बस्तीः (बीपी लहरी)

जिले के आबकारी विभाग में कायम भ्रष्टाचार सिर चढ़कर बोल रहा है। इसके बावजूद अधिकारी मूक दर्शक की मुद्रा में हैं जो प्रदेश सरकार को बदनाम करने की साजिश का हिस्सा माना जा रहा है। पाठकों को याद दिला दें कि सरकार को सबसे अधिक राजस्व देने वाले आबकारी महकमें के अधिकारियों के नक्कारेपन से विभाग में लूट मची है। परिणाम यह है कि शराब, देशी मदिरा, बीयर की धड़ल्ले से ओवररेटिंग हो रही है।

इस जिसको लेकर दुकानदारों और शौकीनों के बीच अक्सर तू तू मैं मैं व गाली गलौज आम बात हो गयी है। दुकानों पर जारी दिशा निर्देश के अनुसार बोर्ड भी नही लगाये गये हैं जिससे ग्राहकों को गुमराह किया जा सके। लालगंज, बनकटी, मुन्डेरवा, हल्लौर, बरहुँँआ, घुक्सा, देईसाड़, कुदरहा, ठोकवा, महसों, हथियाँव, पाकरडाड़ समेत समूचे जिले में ओवर रेटिंग धड़ल्ले से जारी है। बातचीत के दौरान अनेक लोगों ने बताया कि ओवर रेटिँग का खेल विभाग की साँठगाँठ से जारी है। यह भी खबर है कि

लाकडाउन के दौरान अचानक बन्द कराई गई दुकानों पर उपलब्ध स्टाक को नियम विरुद्ध तरीके से रोक के बावजूद दुकानदारों ने निकाल कर मनमानी कीमत पर बेंचने में कोई कसर नहीं छोड़ा। जिसकी जाँच के नाम पर विभाग ने लीपापोती कर गुनहगारों को अभयदान दे दिया। आरोप आम है कि जिला आबकारी अधिकारी के रूप में जबसे नवीन कुमार सिंह और निरीक्षक के रूप में गिरजेश कुमार की तैनाती जिले में हुई है तब से विभाग की पारदर्शिता को ग्रहण लग गया है। एक नागरिक लोकनाथ चौधरी ने तो यह भी बताया कि ओवर रेटिंग की शिकायत हमने मुख्यमंत्री के 1076 नं.पर किया था लेकिन मामले में आवकारी अधिकारी ने फर्जी रिपोर्टिंग कर शासन तक को गुमराह कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here