Home दिल्ली तीन दिन तक भूख से तड़पते रहे क्वॉरेंटाइन किये गए मजदूर

तीन दिन तक भूख से तड़पते रहे क्वॉरेंटाइन किये गए मजदूर

263
0
SHARE
Symbolic photo

श्रावस्ती. कोरोना को लेकर दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है, करोना संक्रमण को लेकर कोरेनटाइन किये गए मजदूर तीन दिन भूख से तड़पते रहे। इस मामले का पता तब चला जब जिले के डीएम वहां निरीक्षण करने पहुंचे। लापरवाही बरतने पर शख्त हुई डीएम ने प्रधान को जेल भेज दिया और पंचायत सेक्रेटरी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। साथ ही तत्काल मौके पर खाना उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।
प्रधान के खिलाफ 188, 420 एवं आपदा प्रबंधन 2005 की धारा 57 और 38 के मामला दर्ज करा कर प्रधान को 14 दिन के लिए जेल भेज दिया और सचिव को निलंबित कर दिया।
श्रावस्ती. जिलाधिकारी यशु रूस्तगी ने जमुनहा क्षेत्र में बनाये गए क्वॉरेंटाइन केंद्रों का सोमवार देर शाम निरीक्षण किया। जहां निरीक्षण के दौरान प्राथमिक विद्यालय ओदाही में व्यवस्थाएं असन्तोष जनक पाई गई। प्राथमिक विद्यालय ओदाही में 16 लोगों को 2 अप्रैल से क्वॉरेंटाइन किया गया था। परंतु इनके लिए न तो नाश्ता की व्यवस्था की गई थी और न ही खाने की। जबकि जिलाधिकारी द्वारा प्रत्येक क्वॉरेंटाइन केंद्र पर प्रतिदिन प्रति मरीज के हिसाब से नाश्ता और दोपहर एवं रात्रि के भोजन के लिए 90 रुपये दिए जाने का प्रावधान किया गया है। इसके बावजूद भी ग्राम प्रधान व सचिव द्वारा इस क्वॉरेंटाइन केंद्र पर खाने की कोई व्यवस्था नहीं की गई। इस पर जिलाधिकारी ने सख्त कदम उठाते हुए ग्राम प्रधान के खिलाफ मामला दर्ज करा कर जेल भेज दिया, और इसके साथ ही सचिव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। ग्राम प्रधान बलिराम के खिलाफ मल्हीपुर थाने में 188, 420 एवं आपदा प्रबंधन 2005 की धारा 57 और 38 के तहत मामला दर्ज किया गया है। इसके साथ ही प्रधान को गिरफ्तार कर 14 दिन के लिए जेल भेज दिया गया है।
निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा यह भी स्पष्ट किया गया कि क्वॉरेंटाइन केंद्रों पर रहने वाले व्यक्तियों के नाश्ता व खाना की व्यवस्था के साथ कोई खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। आगे यदि पुनः किसी भी क्वॉरेंटाइन केंद्र पर ऐसी स्थिति पाई जाती है, तो दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here