Home वाराणसी नोट बैन से जुड़ी है नमक खत्म और चीनी कम की अफवाहें

नोट बैन से जुड़ी है नमक खत्म और चीनी कम की अफवाहें

531
0
SHARE

दिल्ली:शुक्रवार रात राजधानी दिल्ली समेत करीब करीब पूरे देश में नमक खत्म होने अफवाह जोरों पर थी. यह इतनी ज्यादा थी कि सरकारों तक को बीच में आकर कहना पड़ा कि नमक की कोई कमी नहीं है. इसके साथ ही कहीं कहीं चीनी और और अन्य वस्तुओं की कमी की अफवाहें भी उड़ने लगीं. इन अफवाहों के पीछे नोट बैन होने को बड़ा कारण बताया जा रहा है.

पलक झपकते ही खत्‍म हो गया नमक

प्रदेश18 विशेष: नोट बैन से जुड़ी है नमक खत्म और चीनी कम की अफवाहें

वट्सऐप और दूसरे सोशल प्लेटफॉर्म पर नमक और दूसरी वस्तुएं खत्म होने की अफवाह के बाद लोग आसपास की दुकानों पर जरूरी सामान खरीदने के लिए दौड़ पड़े. लोगों के एकसाथ घरों से निकलने की वजह से दुकानों पर भारी भीड़ उमड़ पड़ी और कुछ ही देर में नमक खत्म हो गया. नमक की डिमांड ज्यादा होने से 15 रुपए किलो मिलने वाला नमक 400 रुपए किलो तक बिका.

किल्‍लत की आशंका से खरीदा ज्‍यादा नमक

अफवाह इतनी ज्यादा थी कि लोग आधी रात तक रोड पर नमक के लिए घूमते रहे. छोटी कॉलोनियों में दुकानें बंद होने के बावजूद लोग नमक और चीनी के लिए दुकानें खुलवाते दिखे.

नमक, चीनी और अन्य खाद्य सामग्री के खत्म होने की यह अफवाह नोट बंद होने से जुड़ रही है. ईस्ट दिल्ली के विवेकानंद स्कूल में टीचर अजय शर्मा ने बताया कि कहा जा रहा है कि नोट बैन हो गए हैं और दुकानदारों के पास पैसे नहीं हैं इसलिए वह सामान नहीं खरीद पर रहे इसलिए जल्द ही जरूरी सामान की किल्लत शुरू होने वाली है. इसलिए मैंने भी नमक की पांच थैली खरीद ली हैं. 20 रुपए की एक थैली मिली है.

व्हाट्सएप के जरिए फैलाई गई नमक कमी की अफवाह, चंद मिनटों में ही खाली हुए स्टॉक्स

कहा जा रहा है कि नोट बैन हो गए हैं और दुकानदारों के पास पैसे नहीं हैं इसलिए वह सामान नहीं खरीद पर रहे इसलिए जल्द ही जरूरी सामान की किल्लत शुरू होने वाली है. इसलिए मैंने भी नमक की पांच थैली खरीद ली हैं. 20 रुपए की एक थैली मिली है.
— अजय शर्मा, टीचर, विवेकानंद स्कूल

रात 12 बजे तक नमक के लिए परेशान रहे लोग

दिल्ली के एक दुकानदार ने बताया कि लोग एकदम से नमक की थैली मांगने के लिए आए. घंटे भर में नमक की दो बोरियां खत्म हो गईं. आमतौर पर एक थैली नमक लेने वाले लोग 5-10 थैलियों की डिमांड करने लगे. इससे यह जल्द ही खत्म हो गया, फिर भी लोग नमक मांग रहे थे, परेशान होकर नमक नहीं है का बोर्ड लगाना पड़ा. हमारी दुकान 10 बजे बंद हो जाती है, और हम वहीं रहते हैं. रात में लोग 12 बजे तक नमक के लिए घर का दरवाजा खटखटाते रहे. सबकी जुबान पर एक ही बात थी कि नमक खत्म हो जाएगा तो हम कैसे रहेंगे.

नमक को लेकर फैली अफवाह के बाद कानपुर में मची भगदड़, बुजुर्ग महिला की मौत

घंटे भर में नमक की दो बोरियां खत्म हो गईं. आमतौर पर एक थैली नमक लेने वाले लोग 5-10 थैलियों की डिमांड करने लगे. इससे यह जल्द ही खत्म हो गया, फिर भी लोग नमक मांग रहे थे, परेशान होकर नमक नहीं है का बोर्ड लगाना पड़ा. हमारी दुकान 10 बजे बंद हो जाती है, और हम वहीं रहते हैं. रात में लोग 12 बजे तक नमक के लिए घर का दरवाजा खटखटाते रहे.
— दुकानदार, दिल्‍ली

कुल मिलाकर नमक समेत जरूरी खाद्य सामग्री की चीजें खत्म होने की अफवाह के पीछे नोट बैन को आधार बनाकर लोगों को डराया जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here