500-1000 के नोट बंद कराने के पीछे पुणे के इस मास्टरमाइंड का दिमाग तो नहीं?

348
0
SHARE

सरकार ने नोट बंद करने का महत्वपूर्ण फैसला एक दिन में नहीं लिया होगा, बल्कि इसके लिए लंबे समय से चर्चा चल रही होगी। इस अंग्रेजी वेबसाइट के मुताबिक नोट बंद करने के पीछे अनिल बोकिल की सलाह है। अनिल बोकिल साल 2014 में चुनाव से पहले नरेंद्र मोदी से मिले थे। उस समय उन्हें मुलाकात के लिए सिर्फ 9 मिनट का ही समय दिया गया था, लेकिन जब उन्होंने भ्रष्टाचार और नकली रुपयों को रोकने का प्रस्ताव सुनाया तो पीएम मोदी ने यह प्रस्ताव 2 घंटों तक सुना।

अनिल बोकिल ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से भी मुलाकात की थी, लेकिन राहुल गांधी ने अनिल बोकिल को सिर्फ 15 सेकंड्स से ज्यादा का समय नहीं दिया था। अनिल बोकिल अर्थक्रांति संस्थान के एक बहुत ही मुख्य सदस्य हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here